: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠

प्रांत प्रचारक बैठक – वर्तमान में देश में 39,454 शाखाएँ लग रहीं, जिसमें 12,288 ई-शाखाएं हैं

प्रांत प्रचारक बैठक – वर्तमान में देश में 39,454 शाखाएँ लग रहीं, जिसमें 12,288 ई-शाखाएं हैं रांची, 11 जुलाई  : चित्रकूट, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कोरोना के संभावित तीसरी लहर का सामना करने हेतु देशव्यापी “कार्यकर्ता प्रशिक्षण” का आयोजन करेगा तथा यह प्रशिक्षित कार्यकर्ता लगभग 2.5 लाख स्थानों पर पहुँचेंगे। संघ की 27,166 शाखाएँ अब पुनः मैदान में प्रारंभ हो गयी है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक बैठक में संगठनात्मक गतिविधियों की चर्चा के साथ ही कोरोना के दूसरी लहर से उत्पन्न परिस्थितियों की व्यापक रूप से चर्चा हुई तथा प्रांतों में हुए सेवा कार्यों की समीक्षा की गयी। स्वयंसेवकों द्वारा संचालित वैक्सीन के टीकाकरण हेतु सुविधा केंद्र व प्रोत्साहन के अभियानों की भी समीक्षा की गयी।

कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए पुरे देश में शासन-प्रशासन का सहयोग करने एवं संभावित पीड़ितों की सहायता हेतु विशेष “कार्यकर्ता प्रशिक्षण” का आयोजन किया जाएगा। ऐसी परिस्थिति में समाज का मनोबल बढ़ाने के लिए आवश्यक सभी जानकारी उचित समय पर लोगों तक पहुँचाने हेतु यह प्रशिक्षित कार्यकर्ता लगभग 2.5 लाख स्थानों तक पहुँचेंगें। यह प्रशिक्षण अगस्त माह में पूर्ण किया जाएगा तथा सितंबर से जनजागरण द्वारा हर गाँव व बस्ती में कई स्वयंसेवी लोगों व संस्थाओं को इस अभियान में जोड़ा जाएगा। इस प्रशिक्षण में कोरोना से बचाव हेतु बच्चों व माताओं के लिए विशेष रूप से आवश्यक सावधानियाँ व उपायों को शामिल किया गया है।

जैसे-जैसे कोरोना के प्रकोप के पश्चात स्थितियाँ सामान्य हो रही है, संघ शाखाओं का संचालन भी मैदान में प्रारंभ हुआ है। बैठक में प्राप्त जानकारी के अनुसार देशभर में वर्तमान में कुल 39,454 शाखाएँ संचालित हो रही है, जिसमें 27,166 शाखाएँ अब मैदान में लग रही है तथा 12,288 ई-शाखाएँ है। साथ ही साप्ताहिक मिलन कुल 10,130 है, जिसमें प्रत्यक्ष रूप से मैदान में 6510 पुनः प्रारंभ हुए तथा ई-मिलन 3620 है। कोरोना के लॉकडाऊन काल में विशेष रूप से प्रारंभ हुए कुटुंब मिलन देश भर में 9637 है।

सुनील आंबेकर

अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख , राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ


LATEST VIDEOS

: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠 0651-2480502