: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रान्त द्वारा आयोजित प्रथम वर्ष का समापन कार्यक्रम के.के.एन. स्टेडियम देवघर में

रांची, 11 जून : 10 जून को देवघर में  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रान्त द्वारा आयोजित प्रथम वर्ष का समापन कार्यक्रम स्थानीय के.के.एन. स्टेडियम देवघर में सम्पन्न हुआ। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारत सेवाश्रम संघ दुमका के पूज्य स्वामी नित्यव्रतानन्द जी महाराज ने अपने आशीर्वचन में कहा कि "हम जिस हिन्दू समाज के अंग है वह संगठित होंगे तभी हम आगे बढ़ सकते है"। उन्होंने संघ संस्थापक डॉ हेडगेवार की दूरदर्शिता के बारे में भी अपने भाव को रखे ।उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त स्वयंसेवको से आहवान किया कि जब हम यहां से जाएंगे, तो समाज मे हम एक सन्देश देंगे, वह हमारे अचार-विचार -व्यवहार में दिखे, और संघ से हमे क्यों जुड़ना है यह भाव भी आप समाज मे फैलाएंगे। प्रत्येक कार्यकर्ता अगले वर्ष तक कमसेकम दस नए स्वयंसेवको को जोड़े ओर संगठन का विस्तार करें।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रान्त द्वारा आयोजित प्रथम वर्ष का समापन कार्यक्रम के.के.एन. स्टेडियम देवघर मेंकार्यक्रम के मुख्य वक्ता और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख श्री आलोक कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि स्वामी प्रणवानंद जी 1917 मे ही कहा था "कि हिन्दू संगठित नही है,मैं इसे संगठित करूँगा"।इसी निमित्त भारत सेवाश्रम संघ की स्थापना उन्होंने की जो आज हिन्दू धर्म ,तीर्थ स्थलों का उद्धार व सेवा के अनेक कार्यक्रम चलाते है उसके पूज्य स्वामी जी आज अपने आशीर्वचन से हम सबो को अनुग्रहित किया। उन्होंने संघ शिक्षा वर्ग के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा की 20 दिनों का यह प्रशिक्षण हमे शारीरिक, मानसिक व सामाजिक गुणों से समृद्ध कर हम सब हिन्दू एक है, इस समरस भाव से हम सब आवद्ध होते है। इसी निमित्त यह वर्ग आयोजित किया जाता है। इसी भाव से अपने स्वयंसेवक कोरोना काल मे सेवा और चिकित्सा के अनेक कार्य कर समाज मे एक अलग धारणा भी स्थापित किया। अपना स्वयंसेवक हर आपदा विपदा काल मे समाज प्रथम इस भाव को लेकर कार्य करता है। हिन्दुओ की विशेषता है कि जब भी वे इकट्ठा होकर बैठते तो सकारात्मक बात ही सोचते है, सेवा की भाव को जागृत करते है। हिन्दू जीवन जीने की एक कला है। उपासना के मार्ग अनेक है किंतु ईश्वर की प्राप्ति ही अंतिम लक्ष्य है। इस देश को अपना, यहां के पूर्वजों को अपना, तथा यहाँ के सुख दुख को अपना मानता हो वह हिन्दू है। उन्होंने आगे कहा कि झारखंड की सम्पन्नता युवाओ के मन पर आश्रित है वह पलायन के बजाय यहां रहकर कुछ नवीनता अपनी प्रवीणता को लगाकर करे। देश का विकास अपने प्रदेश से,हमसे भी जुड़ी है। उन्होंने उड़ीसा के उदाहरण देते हुए कहा कि कभी भरपेट भोजन के लिए सोचने वाला प्रदेश आज विकास की अलग गाथा देश मे लिख रहा है। उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त स्वयंसेवको से आह्वाहन किया कि आपके रहते आपके भौगोलिक प्रक्षेत्र में अराष्ट्रीय गतिविधियां नही हो ऐसा वातावरण बने, अपनी शाखा पुष्ट हो इस निमित सम्पर्क बढ़े। उन्होंने कहा कि परिवार की वर्तमान टूटती व्यवस्था चिंताजनक है इस निमित्त हम अपने परिवार के साथ-साथ अपने पड़ोसी के साथ भी अपना पारिवारिक भाव को पुष्ट करे। हमारे इर्द गिर्द मतांतरण नही हो,जो किसी कारणवश भटक गए वे वापस आये, पर्यावरण के निमित्त वृक्षारोपण, प्लास्टिक का कम से कम उपयोग करे ऐसा सामाजिक भाव बने। उन्होंने प्रशिक्षण उपरांत शिक्षार्थियों द्वारा किये गए शारिरिक प्रदर्शन की प्रशंसा करते हुए अपनी बात पूरी की

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रान्त द्वारा आयोजित प्रथम वर्ष का समापन कार्यक्रम के.के.एन. स्टेडियम देवघर मेंविदित हो कि सरसा, देवघर स्थित मॉडर्न पब्लिक स्कूल में विगत 21 मई से 302 स्वयंसेवक एवं घोष से 115 स्वयंसेवको कुल 417 स्वयंसेवको को प्रशिक्षण दिया जा रहा था। पूरे प्रान्त से दशम वर्ग से लेकर शोधार्थी एवं तकनीकी शिक्षा से जुड़े इन स्वयंसेवको ने पूरे मनोयोग से देश प्रथम के भाव को इस प्रशिक्षण में प्राप्त किया । सुबह 04 बजे से लेकर रात्रि 10.30 बजे तक ये स्वयंसेवक प्रशिक्षण प्राप्त करते थे। आज उन्ही सीखे शारीरिक प्रशिक्षण का प्रदर्शन इन स्वयंसेवकों ने किया। घोष की पंचशूल आकृति, सूर्य नमस्कार, व्यायाम,दंड योग आदि का सामुहिक प्रदर्शन किया। 05 जून को शहर में इन्ही स्वयंसेवको द्वारा पथ संचलन किया गया था जहां नगर के गणमान्य नागरिकों ने इन स्वयंसेवको पर जगह जगह पुष्प वर्षा का स्वागत किया था। इस प्रशिक्षण वर्ग के वर्गाधिकारी श्री धनंजय कु सिंह रांची, पालक अधिकारी - श्री हरिनारायण यादव, पाकुड़ , कार्यवाह - श्री धीरेन्द्र जी बोकारो जिला कार्यवाह , मुख्य शिक्षक - श्री रवि जी ,सह मुख्य शिक्षक श्री मुरारी जी पलामू ,बौद्धिक प्रमुख - श्री वीर प्रताप गिरिडीह, सेवा प्रमुख -श्री कपिलदेव जी थे।

धन्यवाद ज्ञापन विभाग कार्यवाह श्री अरुण झा ने धन्यवाद ज्ञापन किया। मंच पर प्रथम वर्ष के समापन कार्यक्रम में नगर के सैकड़ो गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। मंच पर मुख्य अतिथि भारत सेवाश्रम संघ दुमका के पूज्य स्वामी नित्यव्रतानन्द जी महाराज, मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख श्री आलोक कुमार, क्षेत्र संघचालक मा देवब्रत पाहन जी, वर्ग के वर्गाधिकारी श्री धनंजय कु सिंह उपस्थित थे।


LATEST VIDEOS

: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠 0651-2480502