: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠

जैविक कृषि में ही किसान और देश की समृद्धि- राजकुमार मटाले

जैविक कृषि में ही किसान और देश की समृद्धि- राजकुमार मटालेरांची, 21 फरवरी : सेवा भारती, रांची की ओर से आयोजित एक दिन-तीन कार्यक्रम के दौरान अनगड़ा प्रखंड अंतर्गत जोन्हा के गुड़ीडीह ग्राम स्थित सेवा धाम परिसर में किसान मेला,स्वास्थ्य शिविर व सेवा समर्पण दौड़ प्रतियोगिता संपन्न हुआ। पूर्वाह्न 28 गांवों से 225 चयनित युवक-युवतियों का निर्णायक दौड़ प्रतियोगिता का उद्घाटन राष्ट्रीय चैंपियनशिप तीरंदाज अंकिता कुमारी, लक्ष्मी कुमारी,रीना कुमारी व धनेश्वर वेदिया ने संयुक्त रूप से नारियल फोड़कर किया। दौड़ प्रतियोगिता में 24 प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय श्रेणी के धावकों को पुरस्कृत करने के लिए चयनित किया गया।

स्वास्थ्य शिविर का शुभ उद्घाटन रांची,जगरनाथ अस्पताल के विभाग प्रमुख डॉ राकेश आर्या ने किया। मौके पर सेवा भारती के पदाधिकारियों द्वारा चिकित्सकों को अंग वस्त्र दे कर सम्मानित किया गया। एक दिवसीय स्वास्थ्य शिविर में आस पास व सुदूर गांवों से 65 महिला,बाल, वृद्ध रोगियों को विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा परामर्श देकर दवा मुहैया कराई गई। शिविर को सफल बनाने में डॉ राकेश आर्या, फिजीशियन डॉ.केपी सिंहा, डॉ शांति प्रकाश, डॉ एसके सिन्हा,नेत्र विशेषज्ञ, डॉ छवि वर्मा, महिला रोग विशेषज्ञ, डॉ खुशबू, दंत रोग,डॉ डीके मिश्रा, चर्म रोग, श्रद्धानंद पाठक, रामजी बाबू प्रसाद की महत्त्वपूर्ण भूमिका रही।

जैविक कृषि में ही किसान और देश की समृद्धि- राजकुमार मटालेकिसान मेला का उद्घाटन पद्मश्री मुकुंद नायक ने किया। मौके पर किसानों द्वारा उत्पादित फल, फूल, सब्जी व फसलों का अवलोकन किया गया। बिरसा कृषि विश्वविद्यालय से आए वैज्ञानिकों ने विशिष्ट उत्पाद को पुरस्कार के लिए चयन किया। तदोपरांत किसान गोष्ठी का आयोजन किया गया जहां तसर अनुसंधान केंद्र के डिप्टी निदेशक नरेंद्र कुमार ने किसानों को नगदी फसल के लिए मार्गदर्शन किया साथी बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिक आरपी मांझी, कृष्ण प्रसाद ,अशोक कुमार सिंह ने भी कृषि संबंधित आधुनिक जानकारी देकर जैविक खेती के लिए प्रोत्साहित किया। किसान गोष्टी का संचालन विज्ञान भारती के प्रांत संगठन मंत्री उपेंद्र राय ने किया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान आखड़ा का स्वरूप स्थापित कर पद्मश्री मुकुंद नायक ने पारंपरिक लोकगीत प्रस्तुत कर लोगों का मन मोह लिया। मौके पर अपने संबोधन में पद्मश्री मुकुंद नायक ने कहा कि हमें सदैव अपनी संस्कृति,भाषा से जुड़ाव रखना चाहिए। किसान मेला व पुरस्कार वितरण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सेवा प्रमुख राजकुमार मट्ठा लेने कहा कि सेवा भारती जैसी संस्थाएं किसान मेला आयोजित कर किसानों का उत्साह बढ़ाने का कार्य कर रही है। किसानों का मनोबल बढ़ाने एवं इनकी हितेषी सरकार के साथ-साथ विभिन्न सामाजिकज्ञ संस्थाएं अग्रेषसत है। किसान भाइयों को रासायनिक खादों से बचना चाहिए और देसी खाद का उपयोग करना चाहिए।आज जैविक कृषि में ही किसान एवं देश की समृद्धि है। मौके पर कार्यक्रम के मुख्य संरक्षक राजेंद्र प्रसाद गुप्त ने बताया कि विगत 18 वर्षों से सेवा भारती अपने बहुआयामी प्रकल्प के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वावलंबन संबंधित कई महत्वपूर्ण कार्य किए हैं ।आज राष्ट्रीय पटल पर जोन्हा क्षेत्र का नाम सेवा कार्य के लिए याद किया जाता है ।

जैविक कृषि में ही किसान और देश की समृद्धि- राजकुमार मटालेमौके पर 18 किसान भाइयों को उत्कृष्ट उत्पाद के लिए गमछा व छाता देकर पुरस्कृत किया गया। साथी चंपा एनर्जी वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से तीन बंपर पुरस्कार दवा छिड़काव की मशीन बूढ़ा कोचा ग्राम के बुद्धेश्वर बेदिया,गुलाब वेदिया, कामता ग्राम के बालेश्वर वेदिया को दिया गया। साथ ही सभी पंजीकृत किसानों को सेवा भारती की ओर से गमछा देकर सम्मानित किया गया। पूरे कार्यक्रम का संचालन कार्यक्रम संयोजक चंदन मिश्रा ऋषि पांडे प्रांतीय सचिव ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन प्रांतीय अध्यक्ष ओमप्रकाश केजरीवाल ने किया।इस अवसर पर मुख्य रूप से राष्ट्रीय सेवा भारती के ट्रस्टी गुरुशरण प्रसाद,प्रांतीय सह सचिव राधेश्याम अग्रवाल, प्रांत सह सघचालक अशोक श्रीवास्तव, अशोक कुमार गाड़ोदिया, आरके श्रीवास्तव, उमाशंकर शर्मा, संतोष वर्मा, उत्तम सिंह, अरुणा सिंह, कंचन प्रभा,विमला पूर्ति, निधि सहाय सहित कई सेवा भारती के प्रमुख कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


LATEST VIDEOS

------>

विश्व संवाद केंद्र, झारखण्ड

: vskjharkhand@gmail.com 9431162589 📠 0651-2480502